Mothers-Day-Poems-In-Hindi
Mothers-Day-Poems-In-Hindi

जग को रोशन करने वाली

जग को रोशन करने वाली,
छिन जाती रोशनी उसकी।
जग को जन्म देने वाली,
छिन जाती जिन्दगी उसकी।
दिया जन्म नई जिन्दगी को,
देकर उसने अपनी जिन्दगी।
खुद के लिए ना लड़ने वाली,
लड़ जाती वो सारे जग से
चंडी रूप में आ जाती वो
जब बात उसकी संतान पर आती।

माँ

ढ़लते सूरज की चाँदनी है।
हर अंधेरी रात की भोर है।
घनघोर बादल की रोशनी है।
उगते सूरज की प्रतीक है।
मुसीबत में उम्मीद की किरण है।
भटकतो की नई दिशा है।
शक्ति का अस्तित्व है।
वो कोई और नहीं, एक माँ है।

जग को जीवन देने वाली

जग को जीवन देने वाली,
तेरी किया पहचान है।
जन्म लेती बेटी बनकर
फिर बनती पत्नी है
फिर बनती वो माँ है
जग को जीवन देने वाली,
तेरी किया पहचान है।
बेटी बनकर करती घरेलू कारोबार है
पत्नी बनकर भी संवारती घर संसार है
माँ बनकर भी संभालती सारा जग संसार है
जग को जीवन देने वाली,
तेरी किया पहचान है।
चार दीवारी में जन्म लेकर
चार दीवारी में कैद रहकर
चार दीवारी में ही जीवन खत्म करती है
जग को जीवन देने वाली,
तेरी किया पहचान है।

मेरी माँ

वो शख्स, जिसने हर कदम पर संभाला।
वो शख्स, जिसने हर उलझन से निकाला।
वो शख्स, जिसने मुसीबत से लड़ना सिखाया।
वो शख्स, जो हर परिस्थिती में साथ रहा।
वो शख्स, जिसने हमेशा हौसला बढ़ाया।
वो शख्स मेरा दोस्त है।
वो शख्स मेरी जिन्दगी है।
वो शख्स कोई और नहीं,
वो सिर्फ और सिर्फ मेरी माँ है।

प्यारी माँ

माँ है प्यारी, सबसे दुलारी।
तू ही तू है सबसे न्यारी।
माँ भरोसा है, माँ हकीकत है।
माँ एक तू ही मेरी साथी है।
तेरी भक्ती, तेरा सम्मान।
तेरे चरणो में है सारे जग का प्यार।
माँ ही शुभ, माँ ही मंगल
माँ लक्ष्मी की मूरत है।
माँ सरस्वती सी ज्ञानी है।
माँ के चरणो में ही बितानी ये जिंदगानी हैं।

नोट: कविता कैसे लगी आप हमें जरुर बताएं

यह भी पढ़ें:

Short Motivational Poems In Hindi

COVID-19 वैक्सीन की सच्चाई के बारे में कुछ जानकारी जो आपको पता होनी चाहिए

कोरोनावायरस: सुरक्षित रहने के लिए कोरोनोवायरस महामारी के दौरान आपको पांच गैजेट्स में निवेश..

NEET 2021: Will the NEET UG exam be postponed again? Follow this strategy for..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here