Poems About Happiness

पल-पल की ख़ुशी

हँसते रहते हैं आज कल वज़ह ना जाने हम।

जिन्दगी खूबसूरत हुई है देख के हैरान है हम।

जिन्दगी का हर लम्हा खुशनुमा है,

जिन्दगी की हर राह खुशनुमा है,

हर एक पल की ख़ुशी है पल-पल की ख़ुशी है।

खिल खिलाती कली

कली गुलाब सी खिल रहे हो आप।

यूँ ही खुशियों से महकते रहो आप।

कली गुलाब सी निखर रहे हो आप।

यूँ ही खिल खिलाते हमेशा रहो आप।

आज की खुशियाँ

आज की छोटी-छोटी बातें,

कल की खूबसूरत यादें बन जाती हैं।

आज छोटी-छोटी बातों में खुशियों ढूँढो,

कल बड़ी-बड़ी खुशियाँ खुद हमारा पता पुछेंगी।

आज जो भी है उससे जिन्दगी खूबसूरतबनाओ।

किसे पता कल जिन्दगी रहे न रहे,

जो भी है अपने आज में ख़ुश रहना सीखो।

खुशियों का खजाना

खुशियों का पिटारा।

पल भर का है ये खेल सारा।

जी लो जी भर ये दिन है तुम्हारा।

जिंदगी है खुशियों का खजाना।

  ख़ुशी की कला

दोस्तों, जिन्दगी में गम है तो,

जिन्दगी जीने का मजा भी है।

अगर जिन्दगी में गम ना हो तो,

जिन्दगी खाली राह सी बन जाएगी।

जहाँ से हम सिर्फ खाली राह पर आगे चलते जाएंगे।

बिना किसी उतार चढ़ाव के हम कुछ नहीं सिख सकते।

इसलिए जिन्दगी में गम आए तो उसे हँसते हुए दूर करे।

जिंदगी की ख़ुशी

खिल उठा चेहरा आज हमारा भी तुम्हें ख़ुश देख कर।

दुआ है हमारी यूँ ही खिल खिलाते रहो तुम उम्र भर।

ना आए कोईगम जिंदगी में तुम्हारी उम्र भर।

खुशियाँ मिलती रहे तुम्हेंसारी दुनिया की उम्र भर।

ख़ुशी

किसी के मुस्कुराने की वजह बन जाओ।

करे हर कोई प्यार तुमसे वो इंसान बन जाओ।

जिस राह पर कोई तुम्हारा हाथ थाम सके वो मुसाफिर खास बन जाओ।

कर जो तुम पर हर कोई विश्वास वो अनकहा सा राज बन जाओ।

लाकर जिंदगी में किसी की ढेरों खुशियाँवो फरिश्ता भी खास बन जाओ।

यह भी पढ़ें:

Poems About Friendship In Hindi

Poems On Female Feticide In Hindi

Poems About Sun & Moon In Hindi

Poems on Daughter in Hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here