Short-Love-Poems-In-Hindi
Short-Love-Poems-In-Hindi

           मेरी मोहब्बत

मैं लिखती हूँ , वो अल्फाज़ हो तुम।

मैं सोचती हूँ , वो ख्याल हो तुम।

मैं मांगती हूँ , वो दुआ हो तुम।

सच कहूँ , तो मेरी मोहब्बत हो तुम।

            वो लम्हें

वोलम्हें बड़े ही हसीन थे, जिनमें तुम थे।

वो लम्हें बड़े ही खूबसूरत थे, जिनमें तुम थे।

वो लम्हें आज भी मेरी मुस्कुराहट की वजह है

क्योंकि उन लम्हों में तुम थे।

दोस्ती में भी दिल लगी

कभी तो दोस्ती में भी दिल लग जाता है।

कभी कोई बहुत ही खास बन जाता है।

कभी मुलाकात भले ही न हो उनसे।

मगर कुछ वक्त बात करने से ही,

दिल को सुकून भी मिल जाता है।

           मुलाकात

सोची न थी वो बात हो गई।

मुलाकात हमारी उनसे आज हो गई।

देखा था जिसे सिर्फ सपनों में,

हकीकत में उनसे नजरों की टकरार हो गई।

           जीना सीखा दिया

भूल गए थे मुस्कुराना,

तूने हँसना सीखा दिया।

मुश्किलें आसान कर,

राहों पर चलना सीखा दिया।

हाथ थाम कर तूने हमारा,

हमें जीना सीखा दिया।

            हमारी चाहतें

धरती औरभी निखर जाती है,

जब बादल पानी बरसाता है।

उसी तरह हमारी चाहतें भीनिखर जाती है।

जब तुम्हारी चाहतें भी हमारे साथ होती है।

           उनकी बातें

आज तो यारों खो ही गए उनकी बातों में।

हर बार कुछ खास होता है उनकी बातों में।

एक अलग अहसास होता है उनकी बातों में।

हर बार कुछ नया होता है उनकी बातों में।

यह भी पढ़ें:

Sad Poems In Hindi

Mother’s Day Poems in Hindi

Short Motivational Poems In Hindi

How To Increase Immunity Home Remedies

What Is Google Ads And How Does Google Ads Work

COVID-19 वैक्सीन की सच्चाई के बारे में कुछ जानकारी जो आपको पता होनी चाहिए

कोरोनावायरस: सुरक्षित रहने के लिए कोरोनोवायरस महामारी के दौरान आपको पांच गैजेट्स में निवेश..

NEET 2021: Will the NEET UG exam be postponed again? Follow this strategy for..

Adar Poonawala, who arrived in Britain with his wife and children, said- left the

Bihar Corona Update: 85 patients died in 24 hours, close to 95 thousand active…

मंगल ग्रह की खोज और लुप्तप्राय प्रजातियों की बचत

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here